जानिए भिंडी खाने के फायदे और नुकसान

भिंडी (Okra) खाने के स्वास्थ्य लाभ

हरी सब्ज‍ियों अपना अलग स्थान रखने वाली भिंडी को ओकरा के नाम से भी जाना जाता है और इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं. भिंडी में विटामिन सी और मैग्नीशियम का अच्छा सोर्स होता है. भिंडी का नाम उन हरी सब्ज‍ियों में शुमार है, जो बहुत ही पसंद की जाती है, और कुछ लोग इसे बिल्कुल पसंद ही नहीं करते। तो आइए जानते हैं, कि भिंडी खाने से कौन- कौन से फायदे होते हैं ?

Advertisement

 कैंसर में फायदेमंद

भिंडी को अपने भोजन में  शामिल करके आप कैंसर जैसी बीमारी को दूर भगा सकते हैं। क्योंकि भिंडी में  एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व दूसरी सब्ज़ियों कि तुलना में ज्यादा होते हैं, जो कि कैंसर जैसी भयानक बीमारी से लड़ने में सहायक होते है आपको बता दें की खासतौर से कोलन कैंसर को दूर करने में भिंडी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है। यह हमारे आंतों में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करती है, जिससे आंतें स्वस्थ रहती हैं और अच्छे तरीके से कार्य करती हैं।

हृदय के लिए फायदेमंद

भिंडी का सेवन हमारे दिल को भी स्वस्थ रखता  है । भिंडी मौजूद पैक्टिन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है, साथ ही इसमें पाया जाने वाला घुलनशील फाइबर, जो की रक्त में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है, जिससे हृदय रोग का खतरा कम होता है।

Advertisement

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये

भिंडी में विटामिन-सी  और मैग्नीशियम होने के साथ यह एंटीआक्सिडेंट से भी भरपूर होती है। जिसके कारण हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत कर शरीर को बीमारियों से लड़ने में मदद करती है। इसे अपने भोजन में शामिल करने से कई बीमारियों जैसे खांसी तथा ठंड जैसी अन्य समस्याएं भी नहीं होती। अस्थमा में भिंडी का सेवन फायदेमंद बताया जाता है.

पाचन तंत्र में फायदेमंद

भिंडी फाइबर से भरपूर सब्जी है। इसमें मौजूद लसलसा फाइबर हमारे पाचन तंत्र के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है। इससे पेट फूलना, कब्ज, दर्द और गैस जैसी समस्याएं नहीं होती।

हड्डियां के लिए फायदेमंद

आपको बता दें की भिंडी में पाया जाने वाला लसलसा पदार्थ हमारी हड्डियों के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन-के हमारे हड्‍डियों को मजबूत बनाने में सहायक होता है।

मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद

डायबिटीज के बढ़ने की एक वजह पाचन का खराब होना भी माना जाता है, भिंडी में अम्ल एवं उष्ण गुण होने के कारण यह पाचन को स्वस्थ रखती है साथ ही शुगर को भी नियंत्रित रखने में सहयोग देती है। इसमें पाया जाने वाला यूगेनॉल, डायबिटीज रोगियों के लिए बेहद ही फायदेमंद साबित होता है। यह उनके शरीर में शर्करा के स्तर को कण्ट्रोल करता है, जिससे डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है।

आंखों के लिए फायदेमंद

भिंडी विटामिन-ए, विटामिन सी, विटामिन ई, जिंक, बीटा कैरोटीन और एंटी-अक्सिदेंस्ट्स जैसे कुछ तत्त्व पाए जाते हैं, जो कि आँखों की रोशनी यानी आई साइट को स्वस्थ रखने में सहयोगी होते है। इसके साथ ही यह मोतियाबिंद से भी बचाती है।

अनीमिया में फायदेमंद

भिंडी का सेवन अनीमिया में भी काफी लाभदायक होती है। इसमें मौजूद आयरन हीमोग्लोबिन का निर्माण करने में सहायक होता है, और विटामिन- के, रक्तस्त्राव को रोकने का कार्य करता है। जिससे शरीर में खून की कमी नहीं होने देता।

त्वचा के लिए फायदेमंद

भिंडी वजन को कम करने के साथ ही हमारी त्वचा को जवान बनाए रखने में भी मदद करती है। इसका प्रयोग बालों को खूबसूरत, घना और चमकदार बनाने के लिए भी किया जाता है। इसके लसलसे पदार्थ को नींबू के साथ शैंपू की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

पेचिश में लाभ

यदि आप भिंडी का सेवन करते है तो यह पेचिश के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है,  इसके लिए भिण्डी की सब्जी बनाकर खाएं। इससे पेचिश में लाभ होता है।

मूत्र रोग में लाभ

मूत्र रोग यानि  पेशाब का रुक-रुक कर आना, पेशाब करते समय दिक्कत महसूस करना या दर्द होना, मूत्र नलिका संबंधित विकार हो तो भिंडी का उपयोग बहुत ही फायदा पहुंचा सकता है। इस रोग में भिण्डी का काढ़ा बनाकर 10-15 मिली मात्रा में पीएं। इससे मूत्र रोग ठीक होता है।

आग से जले अंग में लाभदयक

अगर आग से कोई अंग जल जाए, तो भिंडी का उपयोग करें। इसके लिए भिण्डी के पत्तों को पीसकर जलने वाले स्थान पर लगाएं। इससे जलन शांत हो जाती है

भिंडी से नुकसान

भिंडी में ओजलेट अत्यधि‍क मात्रा में पाया जाता है, जो गुर्दे और पित्त में पथरी या स्टोन के खतरे को बढ़ा देता है, और पहले से मौजूद स्टोन को बढ़ाकर मजबूत कर देता है। इसके अलावा इसे भूनकर पकाने पर यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकती है।

– ज्यादा खांसी में भिंडी का सेवन ना करें।
-पाचनतंत्र विकार में भी भिंडी का सेवन नहीं करना चाहिए
– वात रोग में भिंडी का सेवन करने से नुकसान हो सकता है।
– भिंडी का अति मात्रा में सेवन करने से कब्ज की परेशानी हो सकती है।

 

Advertisement

Share

Leave a Reply