साक्षी और धोनी की मुलाकात कैसे हुई, एम एस धोनी फिल्म से अलग हैं रियल लव स्टोरी

M.S. Dhoni: The Untold Story – Real Story of Dhoni and Sakshi

महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ  खिलाड़ी रहे हैं. धोनी ने जब से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने की बात कही है.  तब से हर जगह उनके बारे में ही हर जगह चर्चा की जा रही है.   धोनी ने क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह दिया है. उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम में 16 साल अपने जीवन के दिए हैं. जिसमें उन्होंने टीम इंडिया को कई ट्रॉफी  के साथ-साथ वर्ल्ड कप भी दिलाया है. उनकी कप्तानी में  क्रिकेट टीम को कई उपलब्धि दिलायी हैं साथ ही कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं.  धोनी की लोकप्रियता सिर्फ भारत में ही नहीं पूरे विश्व में उनको एक बेहतरीन खिलाड़ी के नाम से जाना जाता है.  हालांकि धोनी आईपीएल मैच खेल सकते हैं.  धोनी ने यह  मुकाम जीवन में कई कठिन परिस्थितियों से गुजर कर हासिल किया है. उनकी लाइफ की कुछ घटनाओं को लेकर उनके ऊपर बॉलीवुड में एक मूवी भी बनाई गई है मूवी का नाम है “एम एस धोनी”.  हालांकि मूवी में उनकी लव स्टोरी रियल लाइफ से अलग दिखाई गई है.

Advertisement

The truth about Sakshi and Dhoni –

हम आपको बताएंगे धोनी और साक्षी रियल लाइफ में मुलाकात कैसे हुई थी और कैसे उन्होंने शादी की थी. दरअसल साक्षी को शादी से पहले क्रिकेट से कोई खास लगाव नहीं था.  यह बहुत ही अजीब बात है उनकी लाइफ में क्रिकेट की दुनिया का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी उनका जीवन साथी बना. धोनी और साक्षी एक दूसरे को बचपन से ही जानते थे.  महेंद्र सिंह धोनी का जन्म झारखंड के रांची में हुआ था और उनका परिवार   अलमोरा जिले का रहने वाला है.  साक्षी सिन्हा रावत का परिवार देहरादून से है. साक्षी के दादाजी वन विभाग के अधिकारी थे. धोनी के पिता भारत सरकार की स्टील उत्पादन कारखाने में नौकरी करते थे जो रांची में थी जिस वजह से वह रांची में बस गए थे.

उसी कारखाने में साक्षी के पिता भी काम करते थे और वह आपस में एक दूसरे को जानते भी थे. कुछ समय बाद साक्षी के पिता ने केनाई ग्रुप की बीनागुरी चाय कंपनी में निर्देशक के तौर पर नौकरी करने लगे थे. धोनी और साक्षी डीएवी श्यामली स्कूल में पढ़ते थे जो रांची में है. स्कूल के बाद साक्षी का परिवार अपने मूल निवास देहरादून जाकर बस गया.

Advertisement

ऐसे हुई साक्षी और धोनी की मुलाकात – 

साक्षी देहरादून जाने के बाद उसने आगे की पढ़ाई वेलकम से की. उसके बाद औरंगाबाद के इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट से  कोर्स कर डिग्री ली. साक्षी ने  होटल मैनेजमेंट की ट्रेनिंग कोलकाता के ताज बेंगाल होटल से की थी. उसी दौरान 2008 में साक्षी और धोनी की सबसे मुलाकात हुई उस समय भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ ईडन गार्डन में होने वाले क्रिकेट मैच के लिए ताज बेंगाल होटल में ठहरी थी. धोनी और साक्षी के कॉमन फ्रेंड युद्ध जीत दत्ता  जो इन दोनों के मित्र थे युद्ध जीत के जरिए ही दोनों की मुलाकात हुई थी. धोनी ने मुलाकात के बाद युद्ध जीत से साक्षी का नंबर लिया और उन्होंने साक्षी को मैसेज किया था.   मैसेज देख साक्षी को यकीन ही नहीं हो रहा था कि धोनी ने उनको मैसेज किया है.

हालांकि दोनों  स्कूल के समय से ही एक दूसरे को जानते थे लेकिन कोलकाता के उस मैच के दौरान हुई मुलाकात के बाद से दोनों में प्यार की शुरुआत हुई थी. दोनों ने ही सन 2010 में शादी कर ली थी.  और आज उनकी एक प्यारी सी बेटी है. हालांकि एम एस धोनी फिल्म में उनकी लव स्टोरी कुछ अलग ही है जिसमें दिखाया जाता है साक्षी महेंद्र सिंह धोनी को जानती ही नहीं थी.  जिसमें धोनी के साथ वह   सख्ती से पेश आती है . जिससे होटल स्टाफ उनको धोनी से माफी मांगने के लिए बोलता है. और धीरे-धीरे दोनों में प्यार की शुरुआत होती है. मूवी और रियल लाइफ में लव स्टोरी कुछ अलग है.

Advertisement

Share

Leave a Reply