जाने हरतालिका तीज व्रत करने का मुहूर्त और क्या करना चाहिए इस मुहूर्त में इस वर्ष किस दिन मनाया जाएगा तीज का त्यौहार

हरतालिका तीज पर जानिये किन चीजों का चढ़ता है चढ़ावा और शुभ मुहूर्त

इस वर्ष हरतालिका तीज 21  अगस्त को मनाई जाएगी.  हरतालिका तीज भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है.  तीज के दिन भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती की पूजा की जाती है.  तीज पर्व का  हिंदू धर्म में बहुत ही बड़ा महत्व है.  इस दिन पत्नी अपने पति की लंबी आयु और सुख समृद्धि के लिए उपवास करती हैं. इस  ना ही किसी तरीके का भोजन किया जाता है और ना ही पानी पिया जाता है.  हरतालिका तीज हरियाली और कजरी तीज के बाद मनाया जाता है.

Advertisement

 

इस वर्ष  हरतालिका तीज का पर्व 21 अगस्त दिन शुक्रवार को मनाई जाएगी.  शुक्रवार एक अच्छा दिन माना जाता है और यह प्यार का कारक ग्रह है. इस शुक्रवार के दिन उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र और सिद्धि योग है. इसी दौरान चंद्रमा भी कन्या राशि में है.  इन सभी सहयोग को देखा जाए तो यह बहुत थी शुभम मंगलदाई समय है.  पत्नी अपनी  पति की लंबी आयु के लिए या व्रत करते हैं.  व्रत के 1 दिन पहले से पत्नी अपने हाथों पर मेहंदी लगाती हैं पत्नी अगर  इस दिन हल्दी को मेहंदी में मिलाकर लगाएं तो इससे उनके पति की सेहत अच्छी रहेगी और साथी गुरु बलवान होगा.

Advertisement

 

हरतालिका तीज व्रत का शुभ मुहूर्त (Hartalika Teej  Festival Shubh Muhurt):

 

21 अगस्त शुक्रवार के दिन प्रातः काल 5:30  से हरतालिका तीज पर्व की शुरुआत होगी. तीज का मुहूर्त 10:30 तक ही रहेगा. मुहूर्त के बाद राहु काल की शुरुआत होगी.  तीज के दूसरा मुहूर्त12  बजे से आरंभ होकर 3:00  तक रहेगा. इस दिन पति-पत्नी दंपत्ति को गुलाबी रंग के वस्त्र पहनने चाहिए. साथ ही पत्नी को इस ब्रिज करने के लिए पूरा 16 सिंगार करना चाहिए. इससे दंपत्ति को विशेष फल प्राप्त होगी. इस व्रत को निर्जला रखा जाता है.  ऐसा माना जाता है उस दिन माता पार्वती ने व्रत रखकर भगवान शिव शंकर आपको पाया था. इसीलिए इस पर्व की बहुत मान्यताएं हैं साथ.  इस शंकर और माता पार्वती की पूजा की जाती है.  जिस किसी भी महिला को अपने  जल्दी शादी करने की इच्छा हो या जो कुंवारी कन्या अपने लिए अच्छे वर की कामना करते हैं वह इस व्रत को करें इससे उनको लाभ मिलेगा. 

 

पत्नियां इस दिन की शुरुआत पानी में गुलाब जल डालकर स्नान करें.  और पूरा दिन व्रत का पालन करें शाम के समय भगवान शिव शंकर कापसे गुलाब जल से करें. और उनसे अपने दांपत्य जीवन की सुखद काम ना करें. इस पर्व की एक विशेष बात किया है यह राशि के हिसाब से भी मनाया जाता है. आइए आपको बताते हैं राशि के लोग किस प्रकार मनाए  और उनकी धन सप्त में बढ़ोतरी होगी – 

मेष –

जिन की राशि मेष  है वह लोग तीज के दिन बेलपत्र में लाल सिंदूर लगाकर भगवान भोलेनाथ पर चढ़ाएं.

वृषभ-

वृषभ राशि वाले लोग गाय के दूध में गुलाब की फूल पत्तियां और गुलाबजल डालकर शंकर जी का अभिषेक करें.

मिथुन-

इस राशि के लोग  हरतालिका तीज पर्व पर  गाय के दूध में दूर्वा डालकर  भगवान शंकर और माता पार्वती जी का  अभिषेक करना चाहिए जिससे उनको अपने व्यवसाय धन संपत्ति में बढ़ोतरी होगी.

कर्क-

जिनकी कर्क राशि  है उन लोगों को तीज के दिन  गाय के दूध में गंगाजल और बताशे  डालकर मिश्रण बना ले और उस जल को माता पार्वती भगवान शिव का अभिषेक करें.

सिंह- 

जिन लोगों की सिंह राशि है वह लोग  गाय के दूध में लाल चंदन को मिलाकर भगवान शंकर का अभिषेक करें.

कन्या- 

इस राशि के लोगों को तीज के दिन फलों के रस से माता पार्वती और भगवान शंकर का अभिषेक करना चाहिए.

तुला- 

तुला राशि वाले लोग गाय के दूध में दूध में   घर में बनी मिठाई या बर्फी  मिलाकर उस घोल से भगवान शिवजी  को अर्पित करें.

वृश्चिक- 

वृश्चिक राशि के लोग गाय के दूध में गंगाजल और शहद मिलाकर शंकर जी और माता पार्वती का अभिषेक करें.  ऐसा करने से  इस राशि वालों को लाभ मिलेगा .

धनु- 

जिन लोगों की राशि धनु है. वह लोग गंगाजल में हल्दी को मिलाकर भगवान शंकर जी का अभिषेक करें.

मकर- 

मकर राशि वाले लोग गंगाजल में गाय का दूध और काले तिल के मिश्रण को भगवान शंकर के ऊपर अभिषेक करें इससे उनके पति की आयु बढ़ेगी.

कुंभ- 

जिन लोगों की राशि कुंभ है वह लोग गाय के दूध में गंगाजल और बताते के घोल को भगवान शिव को अर्पित करें.

मीन- 

जिन लोगों की राशि मीन है वह लोग गाय के दूध में केले के फल को खोल कर उसके मिश्रण से भगवान भोलेनाथ का अभिषेक करें.

यहां पर सभी राशि के लिए अलग-अलग तरीके हैं इन तरीकों से अगर आप भगवान सर के पूजा अर्चना या उनका अभिषेक करते हैं तो उन सभी लोगों को उनके वैवाहिक जीवन और व्यवसाय में लाभ मिलेगा.

Advertisement

Share

Leave a Reply