रक्षाबंधन के पर्व पर इन चीजों का आपकी पूजा की थाली में होना क्यों जरूरी है

आप सभी को यह बताने की जरूरत नहीं कि रक्षाबंधन पर्व का कितना महत्व है. इस पर्व पर बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधी हैं और एक दूसरे की लंबी उम्र और साथ देने का वचन लेते हैं. या पर्व भाई बहन के  रिश्ते और उनके बीच अटूट प्रेम का पर्व है. जैसा कि हर पर्व करने का या हर पूजा करने की एक तरीका होता है  एक विधि विधान होता है उसी तरीके से रक्षाबंधन पर्व के लिए भी कुछ विधि है और कुछ चीजें जो इसमें बहुत महत्त्व रखते हैं तो हम आपको उसी के बारे में बताएंगे कि आप की थाली में वह क्या चीजे होनी चाहिए जो आप के पर्व को शुभ और मंगलदाई बनाएगा.

Advertisement

रक्षाबंधन का पर्व  सावन के महीने में मनाया जाता है.  सावन  के महीना का आरंभ होते ही  बहने अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने की तैयारियां  करने में लग जाती हैं.  यहां तक की है कि उस तैयारी में वह कभी-कभी अपनी पूजा की थाली में उन चीजों को भूलअचानते हॉस्पिटल सकेत जाती हैं. जिनकी उन्हें अधिक जरूरत होती है .

राखी पूजन की सामग्री – 

Advertisement

राखी –   रक्षाबंधन त्यौहार राखी के लिए ही है तो आपकी थाली में राखी होना कितना अनिवार्य है यह आपको बताने की जरूरत नहीं. आजकल मार्केट में तरह-तरह राखी उपलब्ध है बच्चों के लिए  खिलौने वाली और बड़ों के लिए ब्रेसलेट प्लस राखी या बहुत ही प्रकार की आपको मिल जाएगी. आप इनका उपयोग कर सकते हैं अगर आपको रेशम के धागे और कपास के धागे की अगर आप की मिलती है   वह राखी  अधिक शुभ मानी जाती है.

ये भी पढ़े: रक्षाबंधन पर राखी बांधने का सही मुहूर्त एवं समय

रोली –  हिंदू धर्म  मैं रोली का बहुत ही बड़ा महत्व है आप जब भी कोई शुभ कार्य हेतु जाते हैं तो  उनका तिलक किया जाता है. वह तिलक रोली से ही किया जाता है रोली को बहुत ही अहम माना जाता है.  कोई भी कार्य पूजन विधि होती जिसमें हमने किसी परिवार के सदस्य की आरती पूजा करते हैं तो उसमें हमें तिलक लगाने के लिए रोली का  प्रयोग किया जाता है रोली  लगाने का साइंटिफिक कारण भी है. हिंदू धर्म में रोली को माथे में लगाया जाता है कि रोली लगाने से आत्मविश्वास बढ़ता और  शक्ति मिलती साथ ही ध्यान केंद्रित होता है. इसीलिए हमारी पूजा की थाली में रोली जरूर होनी चाहिए. 

चावल –  हिंदू धर्म में किसी भी कार्य चावल का बहुत महत्त्व है इसमें हर मांगलिक कार्यों में चावल का प्रयोग होता है.  इसलिए आपकी राखी की थाली में चावल का होना बहुत जरूरी है इसे आप रोली में मिश्रण सर अपने भाई  माथे पर तिलक लगाएंगे जो बहुत ही शुभ और मंगलकारी कार्य होता है.

दीपक –  किसी भी मांगलिक कार्य हेतु पूजा अर्चना करने के लिए दीपक की जरूरत होती है. राखी की थाली में दीपक  का होना इसलिए अनिवार्य है कि आपको उस दीपक से अपने भाई की आरती लेनी होती है.  आप अपनी लंबी उम्र का वचन लेते हैं साथ ही अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करते हैं आपकी थाली में दीपक होना बहुत अनिवार्य है.

ये भी पढ़ें: भाई को इस तरह की राखी बांधना है अशुभ, बहने भूलकर भी इस तरीके की राखी ना बांधे रखें इन बातों का ध्यान

मिष्ठान –  सभी मांगलिक कार्यों में मिष्ठान का बहुत महत्वपूर्ण योग है आप कोई भी शुभ कार्य करते हैं. शुभ घड़ी में मिष्ठान कहो ना बहुत ही अनिवार्य है पूजा अर्चना के बाद आप अपने भाई का मुंह मीठा करा सकते हैं.  भाई की पसंद की मिठाई ला सकते हैं. मांगलिक कार्य में मीटर मिष्ठान का प्रयोग किस लिए होता है कि सभी कर रहा कि ऐसा भी कोई भी रिश्ता में मिठास घोलने का काम होता है.   मिष्ठान थाने से सभी के मन में आपके लिए प्यार बढ़ जाता है.

Advertisement

Share

Leave a Reply