Jodhpur: जोधपुर में एक ही परिवार के 11 पाकिस्तानी शरणार्थियों की मौत

आज राजस्थान के जोधपुर में एक ही परिवार के 11 पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों की मौत हो गयी है। वहां 11 लोगों की मौत से इलाके में सनसनी फैल गई है. यह घटना देचू थाने के लोड़ता गांव की है। आपको बता दें की पाकिस्तान से आए इन हिंदू शरणार्थी का परिवार पिछले तीन महीने से आकर यहां पर खेती का काम कर रहा था. अभी तक मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस से मिली खबर के मुताबिक राजस्थान के जोधपुर जिले के लोड़ता गांव के एक खेत में आज रविवार सुबह पाकिस्तान के एक हिंदू परिवार के ग्यारह सदस्य मृत पाए गए।

Advertisement

eleven-members-of-a-family-of-pakistan-hindu-migrants-were-found-dead-at-a-farm-in-rajasthan-jodhpur

उनका कहना है कि ऐसे प्रारंभिक तौर देखा जाये तो मौत की वजह कोई पारिवारिक झगड़ा लग रहा है लकिन इस पूरे मामले की जांच अभी जारी है. सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार ये सभी 11 लोगों को जहर का इंजेक्शन देकर मारा गया है. पाकिस्तान से आए हुए इस हिंदू शरणार्थी बुधाराम परिवार में लगभग 12 लोग थे, जिनमें से केवल एक ही जीवित बचा है.जिसका नाम केवल राम है,

Advertisement

eleven-members-of-a-family-of-pakistan-hindu-migrants-were-found-dead-at-a-farm-in-rajasthan-jodhpur

इकलौते जीवित बचे सदस्य केवल राम ने बताया कि शनिवार रात को सभी लोग खाना खाकर नीलगाय भगाने खेत में गए हुए थे. उसे वहीँ खेत में ही नींद आ गई. जब वह सुबह खेत से घर लौटा तो पूरा परिवार ही खत्म हो चुका था. आपको बता दें की पुलिस को मृतको के पास से जहर की कुछ शीशियां और इंजेक्शन भी मिले हैं. अभी फिलहाल पुलिस ने पूछताछ के लिए राम को हिरासत में लिया है.

eleven-members-of-a-family-of-pakistan-hindu-migrants-were-found-dead-at-a-farm-in-rajasthan-jodhpur

देखने से यही जाहिर होता है कि इन सभी सदस्यों ने रात में किसी जहरीली रसायन का सेवन किया था, जिसके कारण इन लोगों की मौत हुई है। पुलिस ने बताया कि झोंपड़ी में चारों ओर किसी तरह के रसायन की गंध थी, जिससे ऐसा लगता है कि एन लोगो ने किसी तरह का जहरील पदार्थ खाया होगा।” मिली जानकारी के मुताबिक ये परिवार के सभी सदस्य एक भील समुदाय के पाकिस्तान के हिंदू प्रवासी थे और गांव के खेत में ही एक झोपड़ी बना कर रह रहे थे, जिसे उन्होंने खेती के लिए किराए पर लिया था।

एसपी ने कहा कि “किसी भी शव पर न तो किसी तरह के चोट का निशान था और न ही किसी भी तरह के मारपीट के कोई सबूत मिले हैं, पुलिस का कहना है की हम किसी भी अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए सबसे पहले फॉरेंसिक टीम और एक डॉग स्क्वाड की सहायता लेकर इसकी पूरी जांच कर रहे हैं। शुरुवाती जानकारी से अभी यही पता चलता है कि परिवार में किसी मुद्दे पर कुछ विवाद था।”

eleven-members-of-a-family-of-pakistan-hindu-migrants-were-found-dead-at-a-farm-in-rajasthan-jodhpur

पुलिस द्वारा शुरुआती पूछताछ से पता चला है कि केवल राम और उसके भाई रवि की शादी जोधपुर के एक ही परिवार में हुई थी. इनकी चार बहनें थी जिसमे से दो पाकिस्तान से नर्सिंग का कोर्स करके आई थीं. और बाकी दो बहनों का रिश्ता भी राजस्थान के जोधपुर के उसी परिवार में हुआ था, जिस परिवार में इन भाइयों का रिश्ता हुआ था. उनमे से एक बहन पास में ही शादी करके वहीँ रह रही थी. इनका पारिवारिक क्लेश काफी दिनों से चल रहा था, जिसकी वजह से बुधराम का एक बेटा वापस पाकिस्तान लौट गया.

मिली जानकारी के अनुसार अभी तक इस घटना में छह वयस्क और पांच बच्चों की मौत हुई है। देचू थाना अधिकारी राजू राम ने बताया कि इनमें सात महिला तथा चार पुरुष हैं।

मरने वाले सभी सदस्यों के नाम इस प्रकार हैं- बुधाराम-75 साल, श्रीमती वितरण-70 साल, रवि-35 साल, लक्ष्मी-38 साल, कुमारी प्यारी- 22 साल, कुमारी सूरज- 21 साल, दयाल- 10 साल, दानिश- 8 साल, दीया- 5 साल, जेहन- 13 साल, कुमारी मुकदश- 16 साल.

Advertisement

Share

Leave a Reply